Delhi Oxygen Crisis – दिल्ली के छह प्राइवेट अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन नहीं, सरकार ने जारी की सूची

कोरोना के केसों में हो रहे इजाफे के बीच दिल्‍ली के छह निजी अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन का स्‍टॉक खत्‍म हो गया है. दिल्‍ली हाईकोर्ट की ओर से केंद्र सरकार को देश की राजधानी को ऑक्‍सीजन का पूरा कोटा सुनिश्चित करने का निर्देश के कुछ ही मिनटों बाद अरविंद केजरीवाल सरकार ने यह जानकारी दी. दो अस्‍पताल सरोज सुपर स्‍पेशियालिटी हॉसिपटल और शांति मुकुंद हॉस्पिटल सुबह से ऑक्‍सीजन के बारे में ध्‍यान आकर्षित कर रहे थे. इसमें से सरोज हॉस्पिटल ने तो इस मामले में दोपहर में हाईकोर्ट का रुख किया और उसे सप्‍लायर INOX की ओर से ऑक्‍सीजन रिलीज किए जाने की गुहार लगाई, इसके बाद उसे कुछ घंटों की सप्‍लाई मिली.

दिल्‍ली सरकार के अनुसार, इसके अलावा तीरथ राम शाह, यूके नर्सिंग होम, राठी हॉस्पिल और Santom हॉस्पिटल में भी ऑक्‍सीजन खत्‍म हो गई है. इसके अलावा हॉली फैमिली अस्‍पताल में करीब ढाई घंटे के लिए ही ऑक्‍सीजन शेष है. हॉली फैमिली अस्‍पताल में बुधवार को भी ऑक्‍सीजन की कमी का सामना करना पड़ा था. केंद्र सरकार ने बुधवार को दिल्‍ली के ऑक्‍सीजन कोटे में 500 मीट्रिक टन की बढ़ोत्‍तरी की थी जबकि राज्‍य ने 700 मीट्रिक टन की जरूरत

बताई है.

इस बीच, कोरोना महामारी के दौरान ऑक्‍सीजन की सप्‍लाई और उसकी उपलब्‍धता को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को उच्‍चस्‍तरीय बैठक की. बैठक में ऑक्‍सीजन सप्‍लाई की उपलब्‍धता बढ़ाने के तरीकों और साधने पर चर्चा की गई. इस मौके पर अधिकारियों ने पीएम को पिछले कुछ सप्‍ताहों में ऑक्‍सीजन की सप्‍लाई में सुधार के लिए किए गए प्रयासों की जानकारी दी. पीएम ने इस दौरान ऑक्‍सीजन का उत्‍पादन बढ़ाने, ऑक्‍सीजन आपूर्ति की गति में तेजी लाने और इनावेटिक तरीकों से हेल्‍थ फेसिलिटी को ऑक्‍सीजन सपोर्ट मुहैया कराने जैसे पहलुओं पर तत्‍परता से काम करने की जरूरत बताई.

Leave a Reply