Delhi- अमेरिका ने कि भारत की इस बुरी स्थिति में मदद , अमेरिका से 318 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचे।

देश में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की लगातार बिगड़ती स्थिति के बीच 318 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर (Oxygen Concentrator) एयर इंडिया के विमान (Air India) में अमेरिका से भारत में आ गए है.

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह (Hardeep Singh Puri) पुरी ने ट्विटर पर लिखा कि हर व्यक्ति के बहुमूल्य जीवन को बचाने और कोरोना महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई को और मजबूत बनाने के लिए नागरिक उड्डयन क्षेत्र (Civil Aviation Sector) की ओर से किया गया यह एक प्रयास है।

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर सामान्य हवा से ऑक्सीजन तैयार करने वाली एक मशीन है, जो मरीजों के लिए किसी संजीवनी से कम नहीं है. ऑक्सीजन कंसंट्रेटर होम आइसोलेशन वाले मरीजों के लिए एक बड़ा विकल्प है. देश में मुख्यत: दो बड़ी कंपनियां बीपीएल और फिलिप्स इसे तैयार करती है. ये ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, ऑक्सीजन सिलेंडर से काफी अलग होता है.

मेडिकल ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की लागत कम (करीब 30 से 60 हजार रुपये) होती है. कुछ तो बेहद छोटे पोर्टेबल मशीन की कीमत 3 से 5 हजार भी होती है. यह बिजली या बैटरी से चलता है. ऑक्‍सीजन सिलेंडर और रीफिलिंग की तुलना में यह सस्ता, सुरक्षित और सुविधाजनक विकल्प है. कंसंट्रेटर ऑक्सीजन के नए मॉलिक्यूल्स नहीं बनाते, बल्कि सामान्य हवा में से ही नाइट्रोजन को अलग कर देते हैं ताकि उसमें ऑक्सीजन बचे.

मालूम हो कि बढ़ते कोरोना संकट के बीच कई देशों ने भारत की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (US President Joe Biden) ने मदद का भरोसा देते हुए कहा है कि महामारी की शुरुआत में जब हमारे अस्पताल जूझ रहे थे तो भारत ने अमेरिका को मदद भेजी थी. इस जरूरत के समय में भारत की मदद के लिए हम प्रतिबद्ध हैं.

वहीं, अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस (America VP Kamla Harris) ने भी भारत को हरसंभव मदद देने का भरोसा दिया है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘अमेरिका कोविड-19 संक्रमण की खतरनाक स्थिति में तेजी से अतिरिक्त मदद और सप्लाई मुहैया कराने के लिए भारत सरकार के साथ करीब से काम कर रहा है. सहायता के साथ, हम भारत के लोगों और इसके साहसी हेल्थकेयर वर्कर्स के लिए प्रार्थना करते हैं’.

अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) जैक सलिवन ने ट्वीट कर कहा कि भारत में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को लेकर उनकी भारतीय NSA अजित डोभाल से बात हुई है. उन्होंने कहा कि अमेरिका इस मुश्किल घड़ी में भारत के लोगों के साथ खड़ा है और हम ज्यादा से ज्यादा सप्लाई और संसाधन तैनात कर रहे हैं.

इससे पहले अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन ने भी भारत की मदद का पूरा भरोसा जताया था. उन्होंने कहा था कि उनका देश कोविड-19 के भयावह प्रकोप के बीच भारत को और उसके स्वास्थ्य नायकों को तेजी से अतिरिक्त मदद देगा.

Leave a Reply