वैक्सीनेशन में देरी होने से वायरस के वेरिएंट को फैलने में मदद मिलेगी

covid vaccine

हेल्थकेयर विशेषज्ञों का कहना है कि लोगों को कोविड 19 वैक्सीन लेने में देरी नहीं करनी चाहिए क्योंकि इससे वायरस को नए वेरिएंट विकसित करने का मौका मिलेगा और उनमें से कुछ वर्तमान टीकों की प्रभावकारिता को कम कर सकते हैं। उनका मानना है कि वैक्सीन नहीं लेने वाले अपने निकट और प्रियजनों के साथ बहुत अन्याय कर रहे हैं।

भारत सरकार ने घोषणा की है कि 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को 1 मई से शुरू होने वाले कोविड 19 टीकाकरण में वैक्सीन लगाई जाएगी। जिससे महामारी को हराने में मदद मिलेगी। लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि युवा और बुजुर्ग वैक्सीन लेने में संकोच कर रहे हैं।

डॉ मर्विन लियो, क्लस्टर सीओओ, ग्लेनेगल्स ग्लोबल हॉस्पिटल्स का मानना है कि कोविड 19 वायरस अभी भी कई होस्ट्स को दोहराने और यह नए वैरिएंट को बनाने में सक्षम है, साथ ही उन्होंने कहा कि, “इनमें से कुछ वैरिएंट वर्तमान वैक्सीन की प्रभावकारिता को कम कर सकते हैं, जो निश्चित रूप से सही नहीं होगा। इसलिए, यह महत्वपूर्ण है कि लोग एक दूसरे को जल्द से जल्द टीका लगवाने के लिए प्रोत्साहित करें और यह सुनिश्चित करें कि वायरस हमारे जीवन से बाहर चला जाए।

Leave a Reply