Delhi Lockdown Extended – दिल्ली में अगले एक हफ्ते बढ़ा ‘सख्त’ लॉकडाउन, कल से अब मेट्रो भी बंद।

नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण को काबू करने के लिए लॉकडाउन की अवधि को एक हफ्ते के लिए और बढ़ा दिया है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डिजिटल प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि सोमवार 17 मई सुबह 5:00 बजे तक के लिए दिल्ली में लॉकडाउन बढ़ाया दिया गया है. साथ ही इसे और सख्त भी किया जा रहा है. सोमवार से दिल्ली मे मेट्रो का परिचालन भी बंद किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि पिछले महीने जब दिल्ली में बहुत तेज़ी से कोरोना के मामले बढ़े तो 20 अप्रैल को मजबूरी में दिल्ली में लॉकडाउन लगाना पड़ा था, क्योंकि मामले लगातार बढ़ते जा रहे थे, कुछ अन्य कारणों की वजह से पॉजिटिविटी रेट 35% तक आ गया था.

यह भी पढ़ेUK – दिल्ली पहुंची 3 ऑक्सीजन जनरेटर और 1000 वेंटिलेटर की पहली खेप, दुनियाभर से मिल रही है मदद

अरविंद केजरीवाल ने बताया कि 26 अप्रैल के बाद क्योंकि लॉक डाउन लगाया था, केस कम होने शुरू हुए, अब 23-24% पॉजिटिविटी रेट आ गया है. उन्होंने कहा कि सब लोगों ने बहुत सहयोग किया जिसकी वजह से यह हो पाया है. इस लॉक डाउन के दौरान हमने हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने पर काम किया कई जगह ऑक्सीजन बैड तैयार किए गए. सबसे ज्यादा दिक्कत दिल्ली में ऑक्सीजन की आई, हमें अचानक से नॉर्मल से कई गुना ज्यादा ऑक्सीजन की जरूरत पड़ने लग गई थी. पिछले कुछ दिनों में केंद्र सरकार के साथ मिलकर और सुप्रीम कोर्ट हाईकोर्ट के आदेशों से केंद्र सरकार के सहयोग से अब दिल्ली के अंदर ऑक्सीजन की स्थिति काफी सुधरी है.

सीएम केजरीवाल के अनुसार अब इस तरह की बातें सुनने को नहीं मिलती कि इस अस्पताल में 2 घंटे की ऑक्सीजन रह गई या उस अस्पताल में आधे घंटे की रह गई है. इस लॉकडाउन के समय को हमने अपने सिस्टम को सुधारने का काफी प्रयास किया है. उन्होंने बताया कि Vaccination का कार्यक्रम भी बहुत तेजी से बढ़ाने का काम किया गया है. सब लोग इसकी तारीफ कर रहे हैं और दिल्ली के आसपास के लोग भी दिल्ली में आकर दिल्ली में टीका लगवा रहे हैं. वैक्सीन के स्टाफ की कमी है इसके लिए हम केंद्र सरकार से बात कर रहे हैं हमें उम्मीद है सहयोग मिलेगा. उन्होंने कहा कि व्यापारियों महिलाओं युवाओं और अलग-अलग वर्ग के लोगों से बात हुई है और सब का यह मानना है कि कोरोना के मामले कम तो हुए हैं लेकिन अभी भी बहुत हैं, अभी ढिलाई देने का समय नहीं आया है.

Leave a Reply