Cowin App में हुए बदलाव , अब पसंद की वैक्सीन का मिल रहा है विकल्प

कोरोना वैक्सीन रजिस्ट्रेशन को लेकर कोविन पोर्टल में किए गए बदलाव से अब लोगों को मनचाही वैक्सीन लगाने का विकल्प मिलेगा। इसके जरिए रजिस्ट्रेशन कराने से पहले अब इस बात की भी जानकारी मिल सकेगी कि किस वैक्सीनेशन सेंटर पर कौन सी वैक्सीन दी जा रही है। साथ ही उम्र के हिसाब से टीकाकरण केंद्रों खोजने की सुविधा भी दी गई है।

45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीनेशन से पहले रजिस्ट्रेशन की सलाह दी जाती है। जबकि 18-44 आयु वर्ग के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन जरूरी है। कोविन पर रजिस्ट्रेशन कराने के बाद वैक्सीनेशन सेंटर चुनने की सुविधा दी गई है। इस दौरान पोर्टल पर यह भी प्रदर्शित किया जा रहा है कि किस केंद्र पर कोविशील्ड लग रही है और कहां पर कोवैक्सीन।

सरकारी सूत्रों ने बताया कि यह बदलाव इसलिए भी जरूरी हो गया था क्योंकि जिन लोगों को दूसरी डोज लेनी है, उन्हें यह पता रहे कि किस सेंटर पर कौन सी वैक्सीन दी जा रही है। दरअसल, कोवैक्सीन की आपूर्ति कम है तथा बहुत कम सेंटर पर उसकी उपलब्धता है। दूसरी बात ये है कि एक-डेढ़ महीने पहले जिस सेंटर पर किसी व्यक्ति ने कोवैक्सीन लगाई है, यह जरूरी नहीं कि आगे भी उस सेंटर पर वही वैक्सीन उपलब्ध हो। फिर कोई भी व्यक्ति किसी भी सेंटर पर वैक्सीन लगा सकता है। इसलिए कोविन पर यह जानकारी दी जा रही है कि किस सेंटर पर कौन सी वक्सीन लगाई जा रही है।

इसी प्रकार उम्र के हिसाब से भी वैक्सीनेशन सेंटर सर्च करने की सुविधा भी दी गई है। 45 से अधिक उम्र के लोगों को जिन सेंटर्स पर वैकसीन लगाई जा रही है उनमें जरूरी नहीं कि 45 से कम वालों को भी लगता हो। इसलिए उम्र के हिसाब से सर्च करने की सुविधा भी दी गई है। 45 से कम उम्र के लोगों के लिए ज्यादातर राज्यों ने अलग वैक्सीनेशन सेंटर बनाये हैं। ऐसे में इन आयु वर्ग के लोगों को कोविन पर अपना वैक्सीनेशन सेंटर सर्च करने में सहूलियत होती है। इसी प्रकार पिनकोड और जिले के आधार पर भी वैक्सीनेशन सेंटर खोजने की सुविधा पोर्टल पर दी गई है।

इस पोर्टल पर यह भी सुविधा दी गई है कि 45 साल से ज्यादा उम्र के लोग बिना किसी सेंटर का चुनाव किए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। रजिस्ट्रेशन पूरा करने के बाद उनका चार अंको का विशेष सुरक्षा कोड आ जाता है। इसे लेकर वह किसी भी वैक्सीनेशन सेंटर पर जा सकते हैं। और वैक्सीन लगा सकते हैं।

Leave a Reply