BBC प्रेसेंटर लिसा शॉ (Lisa Shaw) की खून के थक्के बनने से हुई मौत ,परिवार ने बताया AstraZeneca टीका लगाने से हुई मौत

BBC के रेडियो प्रेसेंटर पुरस्कार विजेता लिसा शॉ (Lisa Shaw) के AstraZeneca टीका लगाने के बाद रक्त के थक्के बनने से अस्पताल में मौत हो गई। उनके फॅमिली का कहना है कि वैक्सीन की डोज़ लगाने से हुई मौत। लिसा शॉ की उम्र 44 साल की थी , वह इंग्लैंड के उत्तर-पूर्व प्रसिद्ध ब्रॉडकास्टर थी और उससे पहले वह BBC रेडियो में काम कर चुकी थी। उनके रिश्तेदारों ने बताया किया वह वैक्सीन लगाने के बाद उनके सर दर्द होने लगा था और कुछ दिनों बाद गंभीर रूप से बीमार पड़ गयी थी।

आपको बता दे उनके परिवार का कहना है की वह वैक्सीन की डोज़ लगाके आई थी उसके बाद से लिसा की ख़राब हुई और उसको अस्पताल में भर्ती करवाया। लिसा का वहां खून के थक्के बनने और ब्लीडिंग का इलाज़ हो रहा था।

AstraZeneca वैक्सीन को 40 के नीचे उम्र वाले लोगों को देने की पेश हो रहे है। क्यूंकि रिपोर्ट के अनुसार ऑक्सफोर्ड / एस्ट्राज़ेनेका लगवाने के बाद प्लेटलेट्स कम हो रहे है और फिर खून के थक्के बन रह है जो की एक चिंता का विषय बन रहा है। ब्रिटैन में अभी तक 33 मिलियन लोगों को एस्ट्राज़ेनेका वैक्सीन लगाई गई है और उनमें से 309 लोगों को खून के थक्के बनने का मामलें आए है।

BBC रेडियो न्यूकैसल के कार्यकारी संपादक रिक मार्टिन(Rik Martin) जो की लिसा के साथ काम कर चुके थे उन्होंने कहा की “हमने यह सुनकर बहुत दुःख हुआ है लिसा बहुत ही अच्छी दोस्त , माँ ,पत्नी थी। हमें उनकी परिवार की चिंता है। उन्होंने साथ में यह भी कहा की “वह रेडियो पर रहना पसंद करती थी और हमारे दर्शकों से प्यार करती थी। हमने किसी ऐसे व्यक्ति को खो दिया है जो बहुत से लोगों के लिए बहुत मायने रखता है।”

हिंदी समाचार और अधिक ट्रेंडिंग न्यूज़ की जानकारी के लिए फॉलो करे The News Voice – Voice of Tomorrow

Leave a Reply