Monsoon Diet : इस मॉनसून में खुद रखे हेल्दी और शामिल करें इन 10 फलों को

मानसून के मौसम का इंतज़ार सबको होता है । इस चिलचिलाती गर्मी से राहत पाने का मानसून का मौसम ही एक सहारा होता है। इस बरसात के मौसम में राहत तो मिलती है लेकिन इसके साथ कई बीमारियां आने का भी खतरा हो जाता है। मानसून के मौसम में कई इन्फेक्शन, फ्लू, सर्दी-जुखाम, डेंगू, मलेरिया जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ने लगता है। ऐसे में फिर आपको अपने सेहत का ख्याल रखना उतना ही ज्यादा जरुरी होता है। तो इस मौसम में अपने डाइट का जरूर ख्याल रखे जिसमे आप इन बीमारयों से बच सके। तो आज हम आपके लिए मानसून कुछ फलों के बारें बताने जा रहे है जिन्हे आप अपने डाइट में जोड़ सकते है और खुद को इन बीमारियों से बचा सकते है।

इस मानसून के मौसम में अपने डाइट पर ज्यादा ध्यान रखते हुए इन फलों का करें सेवनः
1.आलूबुखारा (Plum)

आलूबुखारा बरसाती फल है, जिसको अंग्रेजी में प्‍लम के नाम से भी जाना जाता है। आलूबुखारा में फोलिक एसिड का एक समृद्ध स्रोत पाया जाता है। जिससे आपके शरीर के निशान कम होते है। इसमें विटामिन सी, मिनरल्स और फाइबर की भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। तो इस बरसात के मौसम में इसको अपने आहार में जरूर जोड़े।

2. सेब (Apple )

सेब महिलाओं के लिए सबसे अच्छे फलों में से हैं। इसका सेवन करने से यह आपके दांतों को मजबूत और स्पार्कलिंग बनाता है। यह फल आपको पूरे साल भर मिल जाएगा और यह फल मधुमेह के रोगियों के लिए भी उपयुक्त है। यह त्वचा के कैंसर को भी रोकता है और अस्थमा से लड़ता है। इसको इस बरसात के मौसम में अपने डाइट में शामिल करें और अपनी सेहत को हेल्दी बनाए।

3. नाशपाती (Pears)

नाशपाती कम कैलोरी वाला फल होता हैं और इसमें उच्च मात्रा में पोषक तत्व होते हैं। यह सबसे अच्छा बारिश के मौसम में मिलने वाला फल है। इसमें विटामिन सी की भरपूर मात्रा होती है जिससे आप अपनी प्रतिरक्षा को बढ़ा सकते है। इसके अलावा, इसमें फाइबर अधिक होती है, इस प्रकार वे नाश्ते में सेवन कर सकते हैं। तो अपने बेहतर सेहत के लिए आपको बारिश के मौसम में नाशपाती का सेवन करना चाहिए।

4.लीची (Litchi)

लीची ज्यादातर बारिश के मौसम में आती है और इसे एंटीऑक्सिडेंट का एक बड़ा स्रोत माना जाता है। जिन लोगो को सांस लेने में तकलीफ होती है , उन्हें लीची का सेवन जरूर करनी चाहिए कर इस बरसात के मौसम में खांसी-जुखाम से सांस की समस्या ज्यादा होती। इसलिए लीची को अपने डाइट में जरूर शामिल करे।

5 .नींबू (Lemon)

नींबू सिर्फ बरसात में ही नहीं , इसको आप पूरे साल अपने आहार में जोड़ सकते है। यह एक खट्टा फल है, जिसमे विटामिन सी का अच्छा स्रोत होता है। मॉनसून मौसम में नींबू को आहार में जोड़ कर अपनी इम्यूनिटी को बढ़ा सकते हैं।

6. अनानास (PineApple)

अनानस का स्वाद खट्टा-मीठा होता है। और इसको ऐसा चिकित्सा में इस्तेमाल किया जाता है। डॉक्टर्स हमेशा किसी रोग को कम करने के लिए अनानस खाने का सुझाव देते है। यह कैंसर के जोखिम को भी कम करता है, रक्तचाप को नियंत्रित करता है, और ठंड और खांसी को रोकता है। इसको मानसून में होने वाली खांसी-जुखाम को कम करने के लिए अपने डाइट में जरूर शामिल करें।

7. संतरा (Orange)

संतरे अपने स्वाद के लिए सबको पसंद आते है। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है। संतरे का रोजाना सेवन करने से आपकी इम्यूनिटी को मजबूत को बनाएगा। यह त्वचा से लेकर कई स्वास्थ्य स्थितियों के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं।

8. अनार(Pomegranate)

अनार एक मानसून फल है जिसमें प्रतिरक्षा-वृद्धि गुण होते हैं। यह कई संक्रमणों को रोकने में मदद करता है, जैसे कि सर्दी और फ्लू। अनार में एंटीऑक्सिडेंट केभरपूर मात्रा में स्रोत पाया जाता है और इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं जो गठिया के रोगियों के लिए लाभकारी होता हैं। यह रक्तचाप को भी नियंत्रित करता है। इसको अपने मानसून डाइट में जरूर शामिल करें।

9. जामुन (Jamun)

जामुन आपको बरसात के मौसम में आसानी से मिल जाएगा। इसमें विटामिन, पोटेशियम और आयरन जैसे पोषक तत्वों का भरपूर स्रोत पाया जाता है, जो शरीर को फिट और स्वस्थ रखते हैं। जामुन में फाइबर पाया जाता है और मानसून के दौरान मधुमेह रोगियों के लिए यह फल एक औषदी की तरह काम करती है।

10.आड़ू (Peach)

आड़ू एक कम कैलोरी वाला फल है जो वजन कम करता है। यह बरसात के मौसम में आपको आसानी से बाजार में मिल सकता है। यह विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन सी और कैरोटीन का एक अच्छा स्रोत है – इसमें सभी स्वस्थ पोषक-तत्व है जो, संक्रमण-मुक्त शरीर को बढ़ावा देने के लिए मदद करता है।

इन फलों को अपने दैनिक आहार में शामिल करे और खुद को स्वस्थ रखे। इनको आप जूस पिलाकर या सलाद, स्मूदी की तरह अपने डाइट में शामिल करना शुरू करे।

Leave a Reply