Foreign Exchange Reserve Countries- भारत बना दुनिया का 5वां सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा भंडार वाला देश, जाने कौन से देश है इस लिस्ट में शामिल

भारत सरकार ने सोमवार को अहम जानकारी देते हुए कहा कि देश 25 जून, 2021 तक 608.99 बिलियन अमेरिकी डॉलर के साथ दुनिया के पांचवें सबसे बड़े विदेशी मुद्रा भंडार धारक के रूप में उभरा है। भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में 608.99 बिलियन अमेरिकी डॉलर के साथ, चीन, जापान, स्विट्जरलैंड और रूस के बाद भारत दुनिया में पांचवें सबसे बड़े विदेशी मुद्रा भंडार धारक के रूप में उभरा है।

भारतीय संसद के राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने कहा जानकारी देते हुए कहा कि भारत के विदेशी मुद्रा भंडार की स्थिति 18 महीने से अधिक के आयात को अच्छे से कवर कर रहे है। सरकार और आरबीआई (भारत के रिजर्व बैंक) मजबूत मैक्रोइकॉनॉमिक विकास का समर्थन करने के लिए उभरती हुई बाहरी स्थिति की नीतियों या नियमों की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं।

उन्होंने आगे जानकारी देते हुए कहा कि भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में भिन्नता मुख्य रूप से विदेशी मुद्रा बाजार में आरबीआई के हस्तक्षेप का परिणाम है जो विनिमय दर की अस्थिरता को सुचारू करता है। रिजर्व बास्केट में अन्य अंतरराष्ट्रीय मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर के कारण मूल्यांकन में परिवर्तन आया है और सोने की कीमतों में भी कम ज्यादा की बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने कहा “वर्तमान खाता घाटा में विदेशी मुद्रा भंडार में वृद्धि के साथ, भुगतान संतुलन पर एक अधिशेष को दर्शाता है इसका मतलब नेट कैपिटल के प्रवाह की मात्रा चालू खाते के घाटे की मात्रा से अधिक है।

2020-21 में, भारत के भुगतान संतुलन ने चालू खाते और पूंजी खाते दोनों में अधिशेष दर्ज किया, जिसने वर्ष के दौरान विदेशी मुद्रा भंडार में वृद्धि में योगदान दिया।

हिंदी समाचार और अधिक ट्रेंडिंग न्यूज़ की जानकारी के लिए फॉलो करे The News Voice – Voice of Tomorrow

Leave a Reply