Sawan 2021 Date: कब से शुरू है सावन ? जाने पूजा विधि और सावन मास के व्रत नियम

हिंदू धर्म (Hinduism) में सावन मास का विशेष महत्व है। बता दे कि यह महीना भगवान शिव (Lord Shiva) को काफी प्रिय है। वहीं इस साल सावन मास 25 जुलाई से शुरू होने जा रहा है। सावन के महीने का सभी शिवभक्तों को इंतजार रहता है.

धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक, सावन के महीने में भगवान शिव और माता पार्वती की विधि-विधान से पूजा करने से सभी भक्त की मनोकामना पूरी हो जाती होती है। साथ ही सावन के सोमवार को व्रत रखने से भोलेनाथ की कृपा बनी रहती है।

जाने सावन मास का महत्व :

शास्त्रों में भी सावन मास के महत्व का जिक्र किया गया है। कहा जाता है कि इस माह में भगवान शिव काफी जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं। इसके साथ ही सोमवार के व्रत का फल भी मिलता है। इसके साथ ही सावन मास में भगवान शंकर की पूजा करने से विवाह आदि में आ रही अड़चनें दूर होती है।

वहीं अगर आप भी इस साल सावन माह में भगवान शिव की पूजा-अर्चना कर उन्हें प्रसन्न करना चाहते हैं तो, जानिए पूजा विधि व व्रत नियम

पूजा विधि :

  • सबसे पहले सुबह जल्दी उठे और स्नान कर साफ वस्त्र धारण करें।
  • इसके बाद घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।
  • इसके बाद देवी- देवताओं का गंगा जल से अभिषेक करें।
  • वहीं शिवलिंग में दूध और गंगा जल चढ़ाएं।
  • इसके बाद भगवान शिव को बेल पत्र और पुष्प अर्पित करें।
  • इसके बाद भोग लगाएं और आरती करें। इस बात का ध्यान रखें कि भगवान को सिर्फ सात्विक चीजों का भोग लगाया जाता है।

व्रत नियम :

  • सावन महीने में मास-मंदिरा का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए।
  • इसके साथ ही इस महीने वाद-विवाद से भी बचना चाहिए।
  • सावन माह में लहसुन और प्याज के सेवन न करें।
  • शास्त्रों में बासी और जले हुए खाने को तामसिक भोजन की श्रेणी में रखा गया है।
  • शास्त्रों के मुताबिक, सोमवार के व्रत को बीच में नहीं छोड़ना चाहिए।

Leave a Reply