CAA, NRC से मुसलमानों को नहीं होगा कोई भी नुकसान : RSS प्रमुख

असम (Assam) के दो दिवसीय दौरे पर गुवाहाटी पहुंचे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने बुधवार को कहा कि संशोधित नागरिकता कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) का हिंदू-मुसलमान विभाजन से कोई लेना-देना नहीं है.

वहीं इसे कई लोग राजनीतिक हित को साधने के लिए इन मामलों को साम्प्रदायिक रंग दे रहे हैं. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इस नागरिकता कानून के कारण किसी मुसलमान को कोई नुकसान नहीं होगा. भागवत ने ‘सिटिजनशिप डिबेट ओवर एनआरसी एंड सीएए-असम एंड द पॉलिटिक्स ऑफ हिस्ट्री’ (‘Citizenship Debate over NRC and CAA-Assam and the Politics of History’) शीर्षक वाली पुस्तक के विमोचन के बाद कहा कि , ‘‘स्वतंत्रता के बाद देश के पहले प्रधानमंत्री ने कहा था कि अल्पसंख्यकों का ध्यान रखा जाएगा और अब तक ऐसा ही किया गया है. हम ऐसा करना जारी रखेंगे. वहीं सीएए के कारण किसी भी मुसलमान को कोई भी नुकसान नहीं होगा.”

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, ‘‘हम आपदा के समय इन देशों में बहुसंख्यक समुदायों की भी मदद करते हैं… इसलिए अगर कुछ ऐसे लोग हैं, जो खतरों और भय के कारण हमारे देश में आना चाहते हैं, तो हमें निश्चित रूप से उनकी मदद करनी होगी.”

इसके साथ ही उन्होंने को एनआरसी लेकर कहा कि, सभी देशों को यह जानने का अधिकार है कि उनके नागरिक कौन हैं. उन्होंने कहा, ‘‘यह मामला राजनीतिक क्षेत्र में है क्योंकि इसमें सरकार शामिल है… लोगों का एक वर्ग इन दोनों मामलों को सांप्रदायिक रूप देकर राजनीतिक हित साधना चाहता है.”

हिंदी समाचार और अधिक ट्रेंडिंग न्यूज़ की जानकारी के लिए फॉलो करे The News Voice – Voice of Tomorrow

Leave a Reply