Covid-19 Second Wave- कोरोना वायरस के ‘R’ फैक्टर ने बढ़ाई टेंशन, सरकार ने चेताया-8 राज्यों में अभी भी खतरा

कोरोनावायरस महामारी की डेल्टा की दूसरी लहर अभी भी खत्म नहीं हुई है और आठ राज्यों में ‘आर-वैल्यू’ की शुरुआत हो रही है, केंद्र सरकार ने मंगलवार को इसे “महत्वपूर्ण समस्या” बताई गई है। तीसरी लहर पर चिंता के बीच सरकार की टिप्पणी आई। ”आर-वैल्यू” में वृद्धि दिखाने वाले राज्य हैं – हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, लक्षद्वीप, तमिलनाडु, मिजोरम, कर्नाटक, पुदुचेरी और केरल।

रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया भर में रिपोर्ट किए जा रहे कोरोनावायरस के दैनिक नए मामले अभी भी उच्च हैं क्योंकि 4.7 लाख से अधिक संक्रमण हर रोज दर्ज किए जा रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव, लव अग्रवाल ने कोविड -19 पर हुए कहा कि “दुनिया भर में कोविड -19 मामलों की एक उच्च संख्या की सूचना दी जा रही है और महामारी को खत्म बताया जा रहा है। लेकिन भारत में अब तक, दूसरी लहर अभी भी खत्म नहीं हुई है।”

”अग्रवाल ने आगे जानकरी देते हुए कहा कि “यूएस, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और भारत में औसतन 1.2 आर(R) नंबर है। इसका मतलब है कि एक संक्रमित व्यक्ति एक से अधिक लोगों को संक्रमित कर रहा है। भारत के आठ राज्यों में आर(R) नंबर की श्रेणी में है।

केंद्र ने कहा कि देश के 12 राज्यों और केंद्रीय क्षेत्रों के 44 जिले ऐसे हैं जहां 10% से ज्यादा पॉजिटिविटी रेट है। ये 44 जिले केरल, मणिपुर, मिजोरम, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, सिक्किम, पुद्दुचेरी, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, असम और आंध्र प्रदेश के हैं। इसमें कहा गया है कि पिछले सप्ताह में, केरल से कुल कोरोनावायरस के 49.85% मामले सामने आए थे।

लव अग्रवाल ने कोरोना की तीसरी लहर के सवाल पर कहा कि, मामले अभी सीमित जिलों से ही आ रहे हैं। अगर कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं हुआ तो वहां केस बढ़ सकते हैं। सेकंड वेब ही हमें सबसे पहले मैनेज करनी है।

हिंदी समाचार और अधिक ट्रेंडिंग न्यूज़ की जानकारी के लिए फॉलो करे The News Voice – Voice of Tomorrow

Leave a Reply