Garuda Purana: इन 6 कारणों से आप हो सकते हैं बीमार, बिल्कुल ना करे अनदेखा

By Suman Sharma

17 May 2021

हिंदू धर्म में गरुड़ पुराण का विशेष महत्व है। 18 महापुराणों में से एक इस पुराण में स्वर्ग, नर्क, पाप-पुण्य, मृत्यु के बारे में बताया गया है।

इसके अलावा इसमें कई ऐसी नीतियां बताई गई है जो आपके जीवन की हर मुश्किल से दूर रखने में मदद करती है। गरुड़ पुराण में एक ओर जहां मौत का रहस्य बताया है वहीं दूसरी ओर जीवन के रहस्य छिपे हुए है।

GOOGLE

गरुड़ पुराण में ऐसे 6 कारणों के बारे में बताया है जिसके कारण आप बीमारियों के शिकार हो सकते हैं। जानिए इन बातों के बारे में जिनसे आप सचेत रहकर हमेशा हेल्दी रह सकते है। 

श्लोक अत्यम्बुपानं कठिनाशनं च, धातुक्षयो वेगविधापणंच। दिवाशयो जागरणं च रात्रौ, षड्भिर्नराणा प्रभवन्ति रोगाः।। 

दबाव बनने पर भी नित्यक्रिया रोकना

रोजाना नित्यक्रिया करने से आपका पूरा शरीर स्वस्थ रहता है।अगर आप शरीर में दबाव बनने के बाद भी नित्यक्रिया नहीं करते , तो आप आने वाले समय में कई रोगों के शिकार हो सकते हैं। 

2011

भारी भोजन करना

शरीर के पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए अपने आहार में ऐसी चीजें शामिल करे जिसमें अधिक मात्रा में विटामिन और प्रोटीन हो। इसलिए नाश्ते में हेल्दी हैवी करे। वहीं लंच में हल्का और रात के भोजन का कम सेवन करे। 

दिन के समय सोना

जो व्यक्ति  रात में सोने के साथ-साथ दिन में सोता है तो वह आलसी प्रवृत्ति का माना जाता है। दिन में आराम करने से कई बीमारियाँ हो सकती है। इसलिए इस आदत को तुरंत छोड़ देना सही होगा। 

रात को जगना

कई लोगों की आदत होती हैं कि रात में जगते है और दिन में सोते है। गरुड़ पुराण के अनुसार हर चीज करने का एक नियत समय होता है।इसलय जिसका जो समय हो उसी समय करे। 

रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होना

एक शरीर को बीमारियों से लड़ने के लिए इम्युनिटी मजबूत होना बहुत ही जरुरी है। आपकी इम्युनिटी आपके दिनभर की दिनचर्या पर निर्भर है। इसलिए अपने सरे काम तय समय करे। 

अधिक जानकारी और समाचार के लिए